किसानों को हथौड़े की मार की तरह गहरे जख्म दे गए ओले

फसल को नुकसान, बागवानी भी चैपट
हल्द्वानी। रविवार दोपहर में अचानक भयंकर ओलावृष्टि से हर कोई हैरान रह गया। ये ओले मामूली नहीं बेहद बड़े थे। अचानक ओलावृष्टि से जनजीवन भले ही कुछ देर के लिए अस्त व्यस्त रहा मगर किसानों को ये ओले गहरे जख्म दे गए। कुछ देर में ही फसल को व्यापक नुकसान के साथ बागवानी पर भी तीखी मार पड़ी है।
रविवार को दोपहर तक मौसम का मिजाज सामान्य बना हुआ था। एक बजे बाद तेज हवा व आंधी चलने कर दौर कुछ देर थमा। मगर इसके बाद अचानक तेज ओलावृष्टि शुरू होने लगी। ओलावृष्टि भी इतनी तेज की किसी को सुरक्षित स्थान में जाने का मौका तक नहीं मिला। ये ओले भी बेहद बड़े आकार के थे। ओलावृष्टि ने किसानों को पूरी तरह रुआंसा कर दिया है।

गौलापार में ओलावृष्टि
गौलापार में ओलावृष्टि

गौलापार के प्रगतिशील किसान नरेंद्र सिंह मेहरा ने बताया कि आम और लीची को सीधा नुकसान पहुंचा है। जिनकी गेहंू की फसल खेत में खड़ी है उसे क्षति पहुंची है। इसके अलावा प्याज और लहसुन को भी आने वाले दिनों में नुकसान होगा। क्योंकि ओले का पानी प्याज व लहसुन के लिए नुकसानदायी होता है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.