उत्पाद की गुणवत्ता पर मुहर लगाएगा जेड सर्टिफिकेट

ऊधमसिंहनगर में 23 व 24 नवम्बर को लगेगा पंजीकरण शिविर
हल्द्वानी। अगर आप सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग से जुड़े हुए हैं और भविष्य में काम को और बढ़ाना चाहते हैं तो अपनी इकाइ का शीघ्र ही जेड यानी जीरो इफेक्ट जीरो डिफेक्ट के तहत पंजीकरण करा लीजिए। इसके बाद औद्योगिक इकाइयों को भारत सरकार की ओर से गुणवत्ता का प्रमाण पत्र दिया जाएगा जो आपके उत्पाद की गुणवत्ता के साथ ही कारोबार बढ़ाने में मदद करेगा। ऊधमसिंहनगर में औद्योगिक इकाइयों के जेड के तहत पंजीकरण के लिए रुद्रपुर में 23 व 24 नवम्बर को पंजीकरण शिविर लगाया जा रहा है।

उद्योग विभाग महाप्रबंधक चंचल सिंह बोहरा
उद्योग विभाग महाप्रबंधक चंचल सिंह बोहरा

क्या है जेड प्रमाण पत्र
ऊधमसिंहनगर उद्योग विभाग के महाप्रबंधक चंचल सिंह बोहरा ने बताया कि भारत सरकार देशवासियों को उच्च गुणवत्ता के उत्पाद मुहैया कराने की दिशा में काम कर रही है। सरकार का मानना हे कि ऐसा उत्पाद तैयार किया जाए जिससे पर्यावरण व मानव स्वास्थ्य पर प्रतिकूल पभाव न पड़े। जेड प्रमाण पत्र का सम्बंध भी उत्पाद की गुणवत्ता आधारित है। शिविर में विशेषज्ञ टीम साफटवेयर के जरिये पंजीकरण के लिए आवेदन कर चुकी इकाइयों को अलग-अलग वर्ग के प्रमाण पत्र देगी। यह प्रमाण पत्र भारत सरकार से मान्य होगा। बताया कि प्रमाण पत्र हासिल करने के बाद गुणवत्ता में सुधार हो सकेगा और बैंक भी ऐसे उद्योगों को लोन आदि में प्राथमिकता देंगे। साथ ही आम लोगों में भी उत्पाद की छवि बेहतर हो सकेगी। इसके अलावा कारोबारी अधिक से अधिक वेंडर इकाइयों में भरोसा बनाने में कामयाब हो सकेंगे।
उद्योग दिखा रहे दिलचस्पी
जीरो इफेक्ट जीरो डिफेक्ट यानी जे प्रमाण पत्र हासिल करने के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम इकाइयां रुचि दिखा रही हैं। जीएम बोहरा के अनुसार करीब 80 उद्योगों ने प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए पंजीकरण करा लिया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.